व्हाट्सप्प के बारे में 24 ऐसी बातें जिन्हें जानकर आप दबा लेंगे दांतों तले उंगलियाँ

न्यूज़ track
आज की दुनिया में जितना ज्यादा लोकप्रिय फेसबुक है उतना शायद ही कोई और सोशल नेटवर्क हो लेकिन अगर बात की जाये सिर्फ मेसेजिंग एप्लीकेशन की तो व्हाट्सप्प का नाम सबसे ऊपर आता है. और हो भी क्यों ना क्योंकि इसेसे अच्छी मेसेजिंग एप्लीकेशन कोई है ही नहीं. इसे दो दोस्तों ने मिलकर बनाया है जो पहले बहुत गरीब थे. लेकिन इस एप्प्स की लोकप्रियता को देखते हुए फेसबुक जैसे ब्रांड को इसे खरीदने के लिए मजबूर होना पड़ा. तो आइये जानते हैं आज इस सर्विस से जुडी कुछ महत्वपूर्ण बातें…
1. Whatsapp नाम इसलिए चूज़ किया गया क्योकिं इसकी साउंड “Whats UP” “किसी का हाल चाल पूछने” जैसी हैं.
2.Whatsapp के सबसे ज्यादा यूज़र भारत में हैं.
3. Whatsapp ने आज तक विज्ञापन पर एक पैसा भी खर्च नही किया. इसके बावजूद भी व्हाट्सप्प सबसे ज्यादा हिट और पॉपुलर हैं.
4. Whatsapp पांचवी सबसे ज्यादा डाउनलोड की जाने वाली एप्लीकेशन हैं.
5. Whatsapp “no ads” पॉलिसी पर काम करता हैं, आपने कभी व्हाट्सप्प पर किसी और कंपनी के विज्ञापन नही देखे होंगे.
6. Whatsapp टीम में 55 इंजीनियर्स हैं, और एक इंजीनियर्स 18 मिलियन यूसर्स को हेंडल करता हैं.
7. Whatsapp पर हर रोज़ 4300 करोड़ मैसेज भेजे जाते हैं.
8. Whatsapp पर हर रोज़ 160 करोड़ फोटो शेयर किए जाते हैं.
9. Whatsapp पर हर रोज़ 25 करोड़ विडियों शेयर की जाती हैं.
10. Whatsapp का इस्तेमाल 53 भाषाओं में कर सकते हैं.
11. Whatsapp के एक महीने के एक्टिव यूज़र्स 100 करोड़ हैं, जो फेसबुक मैसेंजर से भी ज्यादा हैं.
12. Whatsapp पर 100 करोड़ से भी ज्यादा ग्रुप बने हुए हैं, इनमें से 1-2 तो आपके भी होगें.
13. Whatsapp फाउंडर “Jan Koum” और “Brian Acton” दोनों ने ही 2009 में फेसबुक में एक जॉब के लिए अप्लाई किया था, लेकिन उन्हें रिजेक्ट कर दिया गया था.
14. व्हाट्सप्प के को-फाउंडर जैन कॉम का जन्म यूक्रेन के एक छोटे से गांव कीव में हुआ था. इनका परिवार इतना गरीब था कि उनके घर में बिजली तक नहीं थी.
15. आपको ज़ानकर हैरानी होगी की Whatsapp बनाने वाले जैन कॉम एक दुकान में सफाई और पोछा लगाने का काम करते थे. लेकिन आज ये अरबपति हैं.
16. 2009 के शुरुआती दिनों में ही व्हाट्सप्प के आविष्कार का बीज पड़ गया। कॉम ने एक आईफोन खरीदा और इस नतीजे पर पहुंचे की आने वाले समय में ऐप्स काफी बड़ी चीज होंगे. उन्होंने सोचा कि एक ऐसा एप्लिकेशन तैयार किया जाए जिसके माध्यम से बड़ी ही आसानी से मैसेजिंग की जा सके.
17. Whatsapp का ट्रायल कुम के कुछ रुसी दोस्तो के फोन पर हुआ था.
18. Whatsapp ने ज़ितनी तेजी से ग्रोथ की है, दुनिया के इतिहास में किसी कंपनी ने नही की.
19. Whatsapp और Skype जैसी सेवाओं की वज़ह से दुनियाभ़र की दूरसंचार कंपनियों को $386 बिलियन का नुकसान उठाना पड़ा हैं.
20. Facebook ने Whatsapp को 1182 अरब रूपए में खरीदा, जो अब तक की सबसे महंगी डील हैं. ये डील 2014 में Valentine’s Day के दिन हुई.
21. अगर आप व्हाट्सप्प पर किसी की प्रोफाइल पिक्चर नही देख पा रहे तो 2 बाते हो सकती हैं, या तो आप उस व्यक्ति की कांटेक्ट लिस्ट में नही हैं या फिर उसने आपको ब्लॉक कर दिया हैं.
22. व्हाट्सप्प की एक साल की कमाई NASA के बज़ट से भी ज्यादा हैं.
23. इन्टरनेट पर खींची गई 27% सेल्फीज़ के लिए व्हाट्सप्प जिम्मेदार हैं.
24. जनवरी 2012, में Whatsapp को IOS App store से बिना बताए रिमूव कर दिया था, लेकिन 4 दिन बाद दोबारा ऐड कर दिया गया.
Advertisements

कंप्यूटर के बारे में रोचक तथ्य।

1 क्‍या आप जानते हैं कि दैनिक प्रयोग (Daily Use) में आने वाला कंप्यूटर माउस (Computer Mouse) सबसे पहले लकडी (Wood) का बनाया गया था।

2 क्‍या आप जानते हैं कि प्रतिमाह लगभग 5000 कॉम्प्यूटर वायरस (Virus) बनाये जाते हैं।

3 क्‍या आप जानते हैं कि अब तक लगभग 17 अरब डिवाइस (Devices) में इन्‍टरनेट (Internet) प्रयोग किया चुका है।

4 क्‍या आप जानते हैं कि विश्‍व की पहली हार्डडिस्‍क (Hard Disk) में केवल 5 MB डाटा स्‍टोर किया जा सकता था।

5 क्‍या आप जानते हैं कि कम्‍प्‍यूटर स्‍क्रीन (Computer Screen) में दिखने वाले सभी द्रश्य (Visual) केवल तीन रंगों (लाल, हरा, नीला) से मिलकर बने होते हैं।

6 क्‍या आप जानते हैं कि दुनिया के पहले (The world’s first) कंप्यूटर मॉनिटर (Computer Monitor) का प्रयोग सर्वप्रथम 1980 में किया गया था।

7 क्‍या आप जानते हैं कि दुनिया का पहले कॉम्प्यूटर कीबोर्ड (Keyboard) का अविष्‍कार (Invention) 1968 में किया गया था।

8 क्‍या आप जानते हैं कि CD, DVD और Pen Drive से पहले बाहरी डाटा आदान प्रदान करने हेतु फ़्लॉपी डिस्क (floppy disk) का प्रयोग किया जाता था।

9 क्‍या आप जानते हैं कि प्रथम फ़्लॉपी डिस्क (floppy disk) का अविष्‍कार (Invention) 1970 में हुआ था, जिसकी स्‍टोरज क्षमता (Store Capacity) केवल 75.79 KB थी।

10 क्‍या आप जानते हैं कि दुनिया में सर्वाधिक प्रयोग किया जाना वाला USB हार्डवेयर पेन ड्राइव वर्ष 1999 में अस्तित्‍व में आया था। लेकिन बाजार में इसे वर्ष 2000 में उतारा गया था, उस समय इसकी स्‍टोरेज क्षमता केवल 8 MB थी।

मोबाइल फोन का इतिहास I

चालीस साल पहले जब मोबाइल फ़ोन की शुरुआत हुई थी, उसके बाद से इसका सफ़र काफ़ी उतार-चढ़ाव भरा रहा है. हम यहां बता रहे हैं इसके विकास के 40 अहम पड़ाव.चार दशक पहले 1973 में मार्टिन कूपर ने 3 अप्रेल को पहला स्मार्टफोन लांच किया था। मोटोरोला के इस पहले सेलफोन की लम्बाई 10 इंच की ओर वजन 1 किलो के करीब था। मार्टिन कूपन ने 1952 में मोटोरोला कंपनी ज्वाइन की थी और आज भी वे उसी में काम कर रहे हैं।

1. चालीस साल पहले तीन अप्रैल 1973 को मोटोरोला के इंजीनियर मार्टिन कूपर ने अपनी प्रतिद्वंदी कंपनी के एक कर्मचारी को फ़ोन कर मोबाइल फ़ोन पर बातचीत कीशुरुआत की थी.

2.इसके क़रीब 10 साल बाद मोटोरोला ने पहला मोबाइल हैंडसेट बाजार में उतारा था. इसकी क़ीमत थी क़रीब दो लाख रुपये.

3.आज दुनिया में इसके क़रीबसाढ़े छह अरब उपभोक्ता हैं.

4.मोटोरोला के पहले हैंडसेट का नाम था, डायना टीएसी. इसकी बैट्री को एक बार रिचार्ज कर क़रीब 35 मिनट तक बातचीत की जा सकती थी.

5.डायना टीएसी को बाज़ार में उतारने से पहले उसका वजन क़रीब 794 ग्राम तक कम किया गया. इसके बाद भी यह इतना भारी था कि इसकी चोट से किसी की जान जा सकती थी.

6.हास्य कलाकार एरिन वाइज ने 1985 में सेंट कैथरीन बंदरगाह से वोडाफ़ोन के दफ्तर फोन कर ब्रिटेन मेंमोबाइल फ़ोन के इस्तेमाल की शुरुआत की.

7.ओ2 के नाम से मशहूर सेलनेट ने 1985 में अपनी सेवा शुरू करके वोडाफोन का एकाधिकार तो़ड़ दिया. वोडाफ़ोन को दस लाख ग्राहक बनाने में नौ साल का समय लगा. वहीं सेलनेट ने केवल डेढ़ साल में ही अगले दस लाख ग्राहक जोड़ लिए.

8.फ्रांसीसी व्यवसायी फ़िलिप ख़ान ने 11 जून 1997 को अपनी नवजात बेटी सोफ़ी की फोटो लेकर कैमरेवाले मोबाइल फ़ोन की शुरुआत की.

9.भारत सहित कई दूसरे देशोंने पिछले कुछ सालों में गाड़ी चलाते समय मोबाइल फ़ोन पर बात करने पर प्रतिबंधित लगा दिया है.

10.एरिजोना के एक प्रतिष्ठान ने सितंबर 2007 में कुत्तों के लिए मोबाइल फ़ोन बाज़ार में उतारा. क़रीब 25 हज़ार रुपये की क़ीमत वाला यह फ़ोन जीपीएस सैटेलाइट सुविधा से लैस था.

कंप्यूटर के बारे में रोचक तथ्य।

1 क्‍या आप जानते हैं कि दैनिक प्रयोग (Daily Use)  में आने वाला कंप्यूटर माउस (Computer Mouse)

2 सबसे पहले लकडी (Wood) का बनाया गया था।
क्‍या आप जानते हैं कि प्रतिमाह लगभग 5000
कॉम्प्यूटर वायरस (Virus) बनाये जाते हैं।

3 क्‍या आप जानते हैं कि अब तक लगभग 17 अरब डिवाइस (Devices) में इन्‍टरनेट (Internet) प्रयोग किया चुका है।

4 क्‍या आप जानते हैं कि विश्‍व की पहली हार्डडिस्‍क (Hard Disk) में केवल 5 MB डाटा स्‍टोर किया जा सकता था।

5 क्‍या आप जानते हैं कि कम्‍प्‍यूटर स्‍क्रीन (Computer Screen) में दिखने वाले सभी द्रश्य (Visual) केवल तीन रंगों (लाल, हरा, नीला) से मिलकर बने होते हैं।

6 क्‍या आप जानते हैं कि दुनिया के पहले (The world’s first) कंप्यूटर मॉनिटर (Computer Monitor) का प्रयोग सर्वप्रथम 1980 में किया गया था।

7 क्‍या आप जानते हैं कि दुनिया का पहले कॉम्प्यूटर कीबोर्ड (Keyboard) का अविष्‍कार (Invention) 1968 में किया गया था।

8 क्‍या आप जानते हैं कि CD, DVD और Pen Drive से पहले बाहरी डाटा आदान प्रदान करने हेतु फ़्लॉपी डिस्क (floppy disk) का प्रयोग किया जाता था।

9 क्‍या आप जानते हैं कि प्रथम फ़्लॉपी डिस्क (floppy disk) का अविष्‍कार (Invention) 1970 में हुआ था, जिसकी स्‍टोरज क्षमता (Store Capacity) केवल 75.79 KB थी।

10 क्‍या आप जानते हैं कि दुनिया में सर्वाधिक प्रयोग किया जाना वाला USB हार्डवेयर पेन ड्राइव वर्ष 1999 में अस्तित्‍व में आया था। लेकिन बाजार में इसे वर्ष 2000 में उतारा गया था, उस समय इसकी स्‍टोरेज क्षमता केवल 8 MB थी।

गूगल के कुछ मजेदार तथ्य

गूगल के कुछ मजेदार तथ्य

इन्टरनेट पर सबसे ज्यादा पसंद किया जाने वाला सर्च इंजन गूगल ही हे ! आपने इसके बारे में बहुत सुना होगा आपको किसी भी चीज की जरुरत हो गूगल आपकी हर जरुरत को पूरा कर देता हे ! आज की इस पोस्ट में, में आपको गूगल की कुछ मजेदार बाते बताऊंगा !

1. गूगल पहले googol (गुगोल) हुआ करती थी ! इन्वेस्टर्स ने स्पेलिंग गलत पड़ इसे गूगल पुकारा और यह नाम सबको पसंद आ गया और तब से इसे लोग गूगल नाम से पुकारने लगे !

2. गूगल का सर्च इंजन 100 मिलियन गीगाबाइट का हे ! उतना डाटा अपने पास सेव करने के लिए एक टेराबाइट की एक लाख ड्राइव की जरुरत होगी !

3. गूगल का home पेज इतना खाली इसलिए लगता हे क्योकि सर्ग़ेई ब्रिन और लेरी पेज को html का ज्ञान नहीं था ! जिस से वे इसे भव्य बना पाते ! बहुत समय तक तो इस पर सबमिट बटन भी नहीं था, रिटर्न की को हिट करके ही टेग सर्च किये जाते थे !

4. गूगल ने अपने स्ट्रीट व्यू मेप के लिए 80 लाख 46 हजार की.मी. सड़क के बराबर फोटोग्राफ लिए हे !

5. दुनिया की सबसे महत्वपूर्ण कम्पनी की वेबसाइट के कोड में २३ मार्कअप एरर हे !

6. २०११ में गूगल का 96 फीसदी रेवेन्यु जो की 37.9 अरब डॉलर था ! वह सिर्फ विज्ञापन से आया था !

अगर यह पोस्ट आपको पसंद आई हो तो अपने विचार दे और इस ब्लॉग से जुड़े !